15 मई से पहले बहाल होगा रोहतांग दर्रा: कुल्लू डीसी
जनजातीय जिला लाहौल-स्पिति का द्वार 13050 फुट ऊंचा प्रसिद्ध रोहतांग दर्रा आगामी 15 मई से पहले यातायात के लिए बहाल कर लिया जाएगा। यह बात उपायुक्त यूनुस ने आज कुल्लू में आयोजित एक प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि रोहतांग पर 15 से 20 फुट बर्फ है जिसे काटने का कार्य सीमा सड़क संगठन द्वारा युद्ध स्तर पर जारी है।
उन्होंने कहा कि जनजातीय जिला लाहौल स्पिति व चंबा का पांगी क्षेत्र जो गत दिसम्बर को बर्फबारी के कारण शेष विश्व से कट चुका था, वह पूरी तरह से अन्य क्षेत्रों से जुड़ जाएगा और इन क्षेत्रों के लोगों को भी बड़ी राहत मिलेगी।
यूनुस ने कहा कि रोहतांग दर्रे को मई के पहले सप्ताह में ही खोलने के लक्ष्य को लेकर कार्य किया जा रहा है, लेकिन विपरीत मौसमी परिस्थितियों के चलते बहाली के कार्य में व्यवधान पड़ रहा है जिससे और पांच-छः दिन का विलंब होना स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत भी रोहतांग को शीघ्र बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं और वह लगातार सीमा सड़क संगठन के संपर्क में हैं और बहाली की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा हालांकि सड़क बहाली का कार्य रानी नाला से आगे तक कर लिया गया है, लेकिन ताजा हिमपात के कारण पुनः से मार्ग अवरूद्ध हो जाता है।

रविवार से मढ़ी तक जा सकेंगे वाहन

  उपायुक्त ने कहा कि सैलानियांे तथा लाहौल, पांगी व कुल्लू के लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए वाहनों को आगामी रविवार से मढ़ी तक अनुमति प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि मढ़ी के आस-पास तथा सड़क के किनारे 400 वाहनों के लिए पार्किंग की व्यवस्था कर ली गई है और रविवार तक इसे डबल करने के प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि रविवार को पहले दिन केवल 600 वाहनों को ही मढ़ी तक अनुमति दी जाएगी। इस क्षेत्र में पार्किंग की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए उन्होंने जिला
यूनुस ने कहा कि रोहतांग-मढ़ी जाने को परमिट प्राप्त करने के लिए वैबसाइट शनिवार से क्रियाशील कर दी जाएगी। यह वैबसाइट प्रातः 10 बजे तथा सांय चार बजे खुलती है। लेकिन, पहले दिन यह दोपहर बाद खुलेगी तथा पहले दिन 600 ही परमिट जारी किए जा सकेंगे। बाद में राष्ट्रीय हरित अधिकरण के दिशा-निर्देशानुसार दिन में कुल 1300 वाहनों के लिए परमिट जारी किए जाएंगे। परमिट आॅन-लाईन प्राप्त किए जा सकेंगे। 100 ऐसे परमिट होंगे जिन्हें कोई भी व्यक्ति अपने निजी वाहन के लिए प्राप्त कर सकता है। परमिट शुल्क पिछले साल की दरों पर यानि 550 रुपये रहेगा। उन्होंने कहा कि वाहनों की निगरानी तथा इन्हें व्यवस्थित करने के लिए गुलाबा में एक अस्थाई पोस्ट स्थापित की जा रही है। हालांकि वाहनों को रोहतांग-मढ़ी की ओर जाने के लिए समय सारिणी भी तैयार कर ली गई है।
उपायुक्त ने बताया कि मढ़ी में सफाई व्यवस्था को लेकर वह काफी गंभीर है और किसी प्रकार की गंदगी न फैले, इसके लिए शौचालयों का निर्माण कर लिया गया है तथा अस्थाई मोबाईल शौचालय भी स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीवरेज प्लांट की स्थापना में समय लगेगा और तब तक सीवरेज टैंक का ही इस्तेमाल किया जाएगा। कूड़ेदान लगाए जा रहे हैं। सभी टैक्सी चालकों को हिदायतें दी गई हैं कि वे पर्यटकों से कूड़ा व प्लास्टिक इत्यादि निःशुल्क उपलब्ध करवाए गए बैगों में डलवाएं और बाद में इन बैगों को गुलाबा अथवा बाहंग में कर्मियों द्वारा प्राप्त किया जाएगा ताकि कचरे का समुचित निस्तारण सुनिश्चित बनाया जा सके। उल्लंघन करने पर टैक्सी चालकों व अन्य दोषी व्यक्तियों से सख्ती से निपटा जाएगा।
यूनुस ने कहा कि सैलानियों व आम लोगों की सुविधा के लिए मढ़ी क्षेत्र में शनिवार से डे-आॅफीसर की तैनाती की जा रही है जबकि रविवार से ड्यिूटि मैजीस्ट्रेट सभी सुविधाओं व व्यवस्थाओं का जायजा लेते नजर आएंगे। उन्होंने कहा कि यातायात को व्यवस्थित करने के लिए 150 गृह रक्षा के जवानों की सेवाएं ली जाएगी। इसके अलावा पुलिस सुचारू यातायात सुनिश्चित बनाने की व्यवस्था करेगी। आपदा प्रबंधन व बचाव टीमें भी लगाई गई हैं जो आपात की स्थिति में बड़ी संख्या मेें रोहतांग की ओर जाने वाले सैलानियों की मदद करेगी।
जिलाधीश ने कहा कि इस बार मढ़ी में ईको-मित्र मार्किट सैलानियों व लोगों को खान-पान तथा अन्य वस्तुएं प्रदान करेगी। इसका आवंटन कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि मढ़ी-रोहतांग पर सैलानियों की सुविधा के लिए इण्टरनेट अथवा दूरभाष क्नेक्टिविटी भी प्रदान की जाएगी। इसके लिए उन्होंने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को एक सप्ताह के भीतर कारवाई करने के निर्देश दिए।
कूड़े-कचरे के निस्तारण के लिए एक सप्ताह में स्थापित किया जाएगा कम्प्रेशर उपायुक्त ने कहा कि कुल्लू में अपविष्ट कूड़े-कचरे के निस्तारण के लिए एक सप्ताह में कम्प्रेशर स्थापित किया जा रहा है। इसके लिए मुम्बई से कंपनी से करार हुआ है और उन्हें एक सप्ताह का समय लग जाएगा। इसके अलावा इन्सिनेटर स्थापित करने के लिए आगामी 8 मई को निविदाएं आमंत्रित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कुल्लू में कचरे से खाद तैयार की जाएगी। इसी प्रकार, मनाली में एनर्जी प्लांट की स्थापना का कार्य जून माह में पूरा कर लिया जाएगा। इसमें 1.5 मैगावाट बिजली का प्रतिदिन उत्पादन होगा और 100 टन कूडे़ के निष्पादन की क्षमता होगी। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में भी 100 टन कूड़ा एकत्र नहीं होता है। यूनुस ने कहा कि वह कुल्लू को कचरा निस्तारण में सक्षम बनाना चाहते हैं और यहां के कूडे का निस्तारण कुल्लू में ही किया जाएगा।

घर स्तर पर ही करनी होगी कूड़े की छंटाई

यूनुस ने कहा कि घरों के स्तर पर ही कूडे़ की छंटनी लोगों को करनी होगी। गीला कूड़ा अलग से हर रोज यानि सप्ताह में छः दिन प्राप्त किया जाएगा जबकि सूखा कचरा अलग से सप्ताह में एक दिन ही लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गीले कूड़े का कुछ भाग गौवंश के चारे के लिए उपयोग किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि गंदगी व कचरा फैलाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। इसके लिए सीसीटीवी तथा विशेष दस्तों के माध्यम से सर्विलेन्स की जा रही है। दोषी पाए जाने पर भारी-भरकम चालान भुगतना पड़ेगा। उन्होंने आम जनमानस से अपील भी की कि वे इस समस्या के समाधान में नगर परिषद व जिला प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सड़कों व नदियों के किनारे कूड़ा-कचरा फैंकने पर कड़ी नजर रखी जा रही है। बहरहाल लोगों को जागरूक किया जा रहा है और सचेत करने के बाद उल्ल्ंाघन करने पर सख्त कदम उठाए जाएंगे।

About Author

client-photo-1
enigma007

Comments

Leave a Reply